48 सालों से रोज एक पौधा लगाता आ रहा है यह रिक्शा...

48 सालों से रोज एक पौधा लगाता आ रहा है यह रिक्शा चालक

0
SHARE
दुनिया में पर्यावरण की चिंता लगभग सभी को है लेकिन कुछ करने के नाम पर अक्सर लोग यही कहते पाए जाते हैं कि ‘मैं अकेला क्या कर सकता हूँ ?’. लेकिन एक अकेला क्या कर सकता है, ये अगर जानना है तो आपको बांग्लादेश के एक रिक्शा चालक अब्दुल समद शेख के बारे में जानना होगा जिन्हें स्थानीय लोग ‘फ़ॉरेस्ट मैन’ के नाम से भी जानते हैं.
बांग्लादेश के फरीदपुर के निवासी 60 साल के अब्दुल रोज एक पौधा रोपते हैं. ये काम वे तबसे कर रहे हैं जब वे 12 साल के बच्चे थे, यानी कि पूरे 48 साल से वे यह काम करते आ रहे हैं. इसका मतलब आप समझे क्या हुआ ? इसका मतलब हुआ कि वे अब तक लगभग साढ़े सत्रह हजार पेड़ों का एक छोटामोटा जंगल खड़ा कर चुके हैं.

अक्सर लोग अपने देश, समाज और पर्यावरण के लिए कुछ न कर पाने के पीछे धनाभाव का भी बहाना बनाते हैं. तो ज़रा अब्दुल की आर्थिक हैसियत भी जान लीजिये.

अब्दुल की पूरी ज़िन्दगी रिक्शा चलाते गुजरी है. रिक्शा चलाने से उन्हें रोज करीब 100 टका की आमदनी होती है, जोकि भारतीय मुद्रा के हिसाब से करीब 80 रुपये होती है. इतने पैसों में अब्दुल का गुजारा कैसे चलता होगा ये समझने के लिए गणितज्ञ होने की जरूरत नहीं है.

लेकिन यहाँ हम बात उनके गुजारे की नहीं बल्कि वृक्षारोपण के प्रति उनके समर्पण की कर रहे हैं. इतनी कम आमदनी में से भी वे रोज फरीदपुर की नर्सरी से एक पौधा खरीदते हैं और उसे लगाते हैं. यूँ समझ लीजिये कि पौधा लगाना खाने, पीने और सोने जैसी नित्य क्रियाओं की तरह उनकी ज़िन्दगी में शामिल हो चुका है.

वृक्षारोपण को संसार के प्रति अपना कर्त्तव्य मानने वाले अब्दुल समद कहते हैं कि ज़िन्दगी में जब भी कोई ऐसा दिन गुजरा जिस रोज वे पौधा नहीं लगा पाए तो उस रात उन्हें नींद नहीं आई.

(Source : OddityCentral)

 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY