गांव वालों ने बना डाला अपना खुद का सूरज

गांव वालों ने बना डाला अपना खुद का सूरज

0
SHARE

इटली में मिलान के पास एक गाँव है जिसका नाम है Viganella. यह गाँव एक गहरी घाटी की तली में स्थित है और चारों ओर से ऊँची-ऊँची पहाड़ियों से घिरा हुआ है. गाँव की स्थिति कुछ इस तरह से है कि साल के ज्यादातर दिनों में वहाँ सूरज की किरणें पहुँच ही नहीं पातीं. सर्दियों में तो बिलकुल भी नहीं.

करीब 200 लोगों की आबादी वाले इस गाँव के लोग इस स्थिति से बेहद निराश थे और मान चुके थे कि उन्हें कभी सूरज की रौशनी के दर्शन नहीं होंगे. ऐसे में Giacomo Bonzani नाम के एक आर्किटेक्ट और इंजीनियर ने गाँव के लोगों को आस बंधाई और ठान लिया कि गाँव में सूरज की रोशनी लाकर रहेंगे.

उन्होंने 8 मीटर चौड़ा और 5 मीटर ऊँचा एक दर्पण लिया और गाँव से करीब एक किलोमीटर ऊपर एक पहाड़ी पर उसे इस तरह से लगाया कि सूरज की किरणें परावर्तित होकर सीधे गाँव के ऊपर गिरें.

Jagran

इतना ही नहीं, दर्पण को कंप्यूटर से नियंत्रित करने के लिए सॉफ्टवेयर भी बनाया ताकि सूरज के चलने के साथ -साथ दर्पण भी उसी अनुसार अपनी स्थिति बदलता रहे और गाँव में सूरज की रोशनी अधिकतम समय तक रह सके.

गाँव वाले इस दर्पण को अपना खुद का सूरज मानते हैं और बेहद खुश हैं. इस नए सूरज को देखने के लिए टूरिस्ट भी भारी मात्रा में Viganella पहुँचने लगे हैं जिससे उनकी आमदनी भी बढ़ गई है.

सच ही कहा गया है – जहां चाह, वहाँ राह !


(Story Source : Odditycentral)

 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY