पैसे नहीं थे तो किसान ने खटिया को हल बना कर तीन...

पैसे नहीं थे तो किसान ने खटिया को हल बना कर तीन एकड़ खेत जोत डाला

0
SHARE

 

इस तस्वीर में खटिया के सहारे खेत की जुताई कर रहे ये महाराष्ट्र के जलगांव जिले के खडकी बुद्रूक गांव के किसान विठोबा मंडोले हैं.

vithoba

भास्कर की रिपोर्ट के मुताबिक महाराष्ट्र के सूखाग्रस्त इलाके के बाशिंदे विठोबा बेहद गरीब हैं, उनके पास न पैसे हैं, न खेती करने के औजार, और न ही बैल. अगर कुछ है तो बस गरीबी के जाल से निकलने का जज्बा.

विठोबा कई सालों से दूसरों के खेतों में मजदूरी करके अपना काम चला रहे थे. फिर उन्हें लगा कि मजदूरी करके तरक्की संभव नहीं है तो खुद खेती करने का विचार आया. पर उनके पास अपनी जमीन नहीं थी. लिहाज़ा किसी का तीन एकड़ खेत बटाई (किराए) पर ले लिया.

खेत तो ले लिया लेकिन पास में न तो पैसे थे, और न ही खेती का कोई साजोसामान. खेत की जुताई का समय आ गया था. तो फिर उन्होंने तरकीब लगाईं और अपनी खटिया को ही हल बना लिया. उस पर पत्थर रखकर, बैलों की जगह खुद जुत गए और पूरा तीन एकड़ खेत खटिया से ही जोत डाला.

खटिया के सहारे खेत जोतते हुए विठोबा की यह तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है. इस कर्मयोगी का साथ ईश्वर को देना ही पड़ेगा.

 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY