Home Life & Culture आखिर क्यों बना होता है ट्रेन के आखिरी डिब्बे के पीछे क्रॉस...

आखिर क्यों बना होता है ट्रेन के आखिरी डिब्बे के पीछे क्रॉस का निशान ?

0

भारतीय रेलवे दुनिया के सबसे बड़े रेल नेटवर्क में से एक है जहाँ हर दिन सैकड़ों ट्रेनें चलती हैं और लाखों लोग यात्रा करते हैं. अक्सर ट्रेन में सफ़र के दौरान हमें कई प्रकार की नई चीजें देखने और सुनने मिलती हैं. आज हम रेलवे से जुड़ी ऐसी ही एक जानकारी आपसे साझा कर रहे हैं जिसके बारे में आप शायद न जानते हों.

कोई भी ट्रेन जब प्लेटफार्म से गुजरती है तो आपने ध्यान दिया होगा कि ट्रेन के सबसे आखिरी डिब्बे पर एक क्रॉस (X) का निशान बना होता है. आपने कभी सोचा है कि क्या मतलब होता है इस क्रॉस के निशान का और इसे केवल आखिरी डिब्बे या बोगी पर ही क्यों बनाया जाता है..??

दरअसल ट्रेन के अंतिम डिब्बे के पीछे क्रॉस (X) इसलिए लिखा जाता है जिससे रेलवे कर्मचारियों को पता लग सके कि पूरी ट्रेन जा चुकी है. यह निशान सफ़ेद या पीले रंग से बनाया जाता है. इसके अलावा आखिरी डिब्बे में लाल रंग की एक लाइट भी लगी होती है जो जलती बुझती रहती है. अंग्रेजों के समय में इस लाइट को तेल से जलाया जाता था पर अब यह बिजली से जलती है. भारतीय रेलवे के नियमों के अनुसार इस लाइट का ट्रेन के आखिरी डिब्बे पर होना अनिवार्य है.

इसके अलावा ट्रेन के आखिरी डिब्बे पर एक बोर्ड भी लटका होता है जिस पर ‘LV’ लिखा होता है इसका मतलब होता है-‘लास्ट व्हीकल’ या आखिरी डिब्बा. रेलवे नियम के अनुसार यदि स्टेशन से गुजरते समय किसी रेलवे कर्मचारी को यदि यह क्रॉस का निशान और यह बोर्ड नहीं दिखता है तो इसका मतलब होगा कि ट्रेन पूरी तरह से नहीं गई है, कुछ डिब्बे पीछे छूट गए हैं. ऐसी स्थिति में आपातकालीन कार्यवाही की जाती है.

(Source : Quora.com)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here