Home News जब इंसानियत दिखाना साउथ अफ्रीकी बल्लेबाज को पड़ गया भारी

जब इंसानियत दिखाना साउथ अफ्रीकी बल्लेबाज को पड़ गया भारी

0

कभी कभी अनावश्यक इंसानियत दिखाना भी भारी पड़ जाता है. अंडर-19 मैचों के दौरान अंपायर द्वारा एक ऐसा डिसीजन दिया गया जिसे लेकर बहस शुरू हो गई है.

ग्रुप ए में वेस्ट इंडीज और दक्षिण अफ्रीका की टीमों के बीच मैच हो रहा था. दक्षिण अफ्रीकी टीम बल्लेबाजी कर रही थी. पारी के 17वें ओवर में जिवेशन पिल्लई को ऑब्सट्रक्टिंग द फील्ड की वजह से आउट करार दे दिया गया.

हुआ ये कि 17वें ओवर की चौथी गेंद पर पिल्लई ने शॉट खेलने की कोशिश की लेकिन गेंद बल्ले का किनारा लेकर पिल्लई के पैड से लगकर विकेटों की ओर जाने लगी. जिसे पिल्लई ने बल्ले से ही जमीन पर रोक दिया.

गेंद रुकने के बाद पिल्लई ने उसे उठाकर विकेटकीपर की ओर हाथ से उठाकर फेंक दिया. देखा जाए तो यह सीधे सीधे खेल भावना का मामला था लेकिन अंपायर ने इसे बल्लेबाज की गलती माना और आउट करार दे दिया. देखिये वह दृश्य –

विरोधी टीम वेस्टइंडीज़ ने अंपायर से ‘ऑब्सट्रक्टिंग द फील्ड’ के लिए अपील कर दी, जो कि आईसीसी के नियम के मुताबिक ‘नियम 37.4’ में आता है. जिसमें आप फील्डर के बीच आकर गेंद को या फील्डर को रोक नहीं सकते. अंपायर ने आउट करार दे दिया.

पिल्लई को जिस समय दुर्भाग्यपूर्ण ढंग से आउट दिया गया उस समय वे अच्छी बल्लेबाजी कर रहे थे और 18 रन बनाकर खेल रहे थे. पर क्या किया जाए, नियम तो नियम है भाई !

हमारा यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब कर सकते हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here